Tuesday, 18 September 2018

Love Shayari Teri nafrat me wo dam nhi, Jo meri chahat ko mita de

Read Love Shayari in Hindi

Love shayari in hindi

Bina aapke jindagi me koi khushi nhi, Aap nhi to labo pe mere Hansi nhi. Na samjhe aap to hum kya kren, Is dil me aapke bina kisi or ki jagah nhi.
बिना आपके जिंदगी में कोई खुशी नहीं, आप नहीं तो लबो पे मेरे हंसी नहीं।
ना समझे आप तो हम क्या करें, इस दिल में आपके बिना किसी और की जगह नहीं।

Jhuki palko se tera didar kiya, Sabko bhula ke tera intzaar kiya. Tu jaan hi nhi pai mere jazbaat ko, Duniya me maine sabse jayada tujhe pyaar kiya.
झुकी पलको से तेरा दीदार किया, सबको भुला के तेरा इंतज़ार किया।
तू जान ही नहीं पाई मेरे जज्बात को, दुनिया में मैंने सबसे ज्यादा तुझे प्यार किया।

Teri nafrat me wo dam nhi, Jo meri chahat ko mita den. Meri chahat ka samander to teri soch se bhi gahra hai.
तेरी नफरत में वो दम नहीं, जो मेरी चाहत को मिटा दें। मेरी चाहत का समन्दर, तेरी सोच से भी गहरा है।

Tu shak na kar mere jajbato pe, Tere sath jindagi meri khubsurat hai. Jitni aahmiyat hai pani ki marte inshan ke liye, Bas itni hi mujhe teri jarurat hai.
तू शक ना कर मेरे जज्बातों पे, तेरे साथ जिंदगी मेरी खूबसूरत है।
जितनी आहमियत है पानी की मरते इंसान के लिए, बस इतनी ही मुझे तेरी जरूरत है।

Gam ne hansne na diya, Jamane ne rone na diya. Is ulajhan ne jine na diya, Jab thak ke sitaro ki panah li, Nind aai to aapke yaado ne sone na diya.
ग़म ने हंसने ना दिया, जमाने ने रोने ना दिया।
इस उलझन ने जीने ना दिया, जब थक के सितारों की पनाह ली,
नींद आई तो आपके यादों ने सोने ना दिया।

Ye 2 shabd pyaar karne walo ke liye:
Heer pedal ja rahi thi ek ladka aawaj deta hai, aye deewani pichhe mud ke dekh tera dupatta jameen se ghisa ja rha hai
Heer jabab deti hai,
Aye deewane tu kya jane ye bhi apna farz nibha raha hai, Koi chum na le mere kadmo ke mitti ko Ranjhe ke siwa isliye ye nishaan mita raha hai.
ये दो शब्द प्यार करने वालो के लिए:
हीर पैदल जा रही एक लड़का आवाज देता है, ये दीवानी पीछे मुड़ के देख तेरा दुप्पटा जमीन से घिसा जा रहा है।
हीर ज़बाब देती है,
ऐ दीवाने तू क्या जाने ये भी अपना फ़र्ज़ निभा रहा है, कोई चूम ना ले मेरे कदमों की मिट्टी को "रांझे" के सिवा इसलिए ये निशान मिटा रहा है।

Main chahta hoon tumhe yun hi umar bhar dekhta rahu, Koi talab na ho dil me teri talab ke siwa.
मैं चाहता हूं तुम्हे यू ही उमर भर देखता रहूं, कोई तलब ना हो दिल में तेरी तलब के सिवा।

Bahut hi sundar jabab:
Khuda ne mujhae kaha- Tu chahe lakh sajde kar na wo teri thi na hai or na kabhi hogi, Humne bhi dil se kaha aye khuda wo meri ho chahe na ho mujhe usi se ishq tha hai aur rahega.
बहुत ही सुन्दर जबाब:-
खुदा ने मुझसे कहा - तू चाहे लाख सजदे कर ना वो तेरी थी ना है और ना ही कभी होगी,
हमने भी दिल से कहा ऐ खुदा वो मेरी हो चाहे ना हो मुझे उसी से इश्क था है और रहेगा।

Apne sine se lga ke rakh mujhe, Meri sari gam dur karde.
Tujhse juda na ho pau main, itna apne pyaar se choor kar de. Meri nas me bas jaye mohabbat teri, Main kisi aur ko na dekhu itna majboor karde.
अपने सीने से लगा के रख मुझे, मेरी सारी गम दूर करदे।
तुझसे जुदा ना हो पाऊ मैं, इतना अपने प्यार से चूर करदे,
मेरी नस में बस जाएं मोहब्बत तेरी, मैं किसी और को ना देखू इतना मजबुर करदे।

Jo kabhi ho tere dil me sawal, Ki kitni hai mujhe jarurat teri.
To zara apni sans ko rok kar, sanso ki talab ko mahsua kar lena.
जो कभी हो तेरे दिल में सवाल, की कितनी है मुझे जरूरत तेरी।
तो ज़रा अपनी सांस को रोक कर, सांसों की तलब को महसूस कर लेना।

Apna humsafar bana le mujhe, Tera hi saya hu apna le mujhe ye raat ka safar aur bhi haseen ho jayega, Tu aa ja sapno me ya bula le mujhe.
अपना हमसफ़र बना ले मुझे, तेरा ही साया हूं अपना ले मुझे ये रात का सफर और भी हसीन हो जाएगा, तू आ जा सपनों में या बुला ले मुझे।

Badi ajib si bandish thi uski mohabbat me, Na wo kaid kar sake or na main aajad ho ska.
बड़ी अजीब सी बंदिश थी उसकी मोहब्बत में, ना वो केैद कर सके। ना मैं आजाद हो सका।

Jante ho sb phir bhi anjan banti ho, Is tarah aap hame pareshan karti ho, Puchte ho kya pasand hai aapko? Khud jabab ho ke bhi ye sawal karti ho.
जानते हो सब फिर भी अनजान बनती हो, इस तरह आप हमें परेशान करती हो,
पूछते हो कि क्या पसंद है आपको?
खुद जबाव हो के भी ये सवाल करती हो।

Khushbu ki tarah aap ke pass bikhar jaunga, Sukun banke dil me utar jaunga, Mahsus karne ki koshish kijiye, Door ho ke bhi pass najar aaunga.
खुशबू की तरह आप के पास बिखर जाऊंगा, सुकून बनके दिल में उतर जाऊंगा,
महसूस करने की कोशिश कीजिए, दूर हो कर भी पास नजर आऊंगा।

Kitni khubsurat ho tum, kitna haseen chehra hai tumhara. Log tumhe kahte hai chand ka tukda, Main kahta hoon chand tukda hai tumhara.
कितनी खूबसूरत हो तुम, कितना हसीन चेहरा है तुम्हारा।
लोग तुम्हें कहते है चांद का टुकड़ा, मैं कहता हूं चांद टुकड़ा है तुम्हारा।

Wo mehndi laga hath dikha ke roi, Main kisi aur ki nhi ho sakti ye bata ke roi, Shayad use jindagi bhar ki judai ka khayal aaya tha.
Wo mujhe sine se lga ke roi, Jo kahti thi tumhare bina ek pal nhi rah sakti aur aaj wo ye baat dohra ke roi.
Kaise uski mohabbat pe shak karte hum kyuki bhadi mahfil me mujhe gale lga ke roi.
वो मेहंदी लगा हाथ दिखा के रोई, मैं किसी और की नहीं हो सकती ये बता के रोई, शायद उसे जिंदगी भर की जुदाई का ख्याल आया था।
वो मुझे सीने से लगा के रोई, जो कहती थी तुम्हारे बिना एक पल भी नहीं रह सकती, और आज वो ये बात दोहरा के रोई,
कैसे उसकी मोहब्बत पे शक करते हम, क्युकी भड़ी महफ़िल में मुझे गले लगा के रोई।

Na main tujhe khona chahta hu, Na main teri yaad me rona chahta hu,
Jab tak jindagi hai tumhare sath rahunga bs yahi baat tumhe kahna chahta hu.
ना मैं तुझे खोना चाहता हूं, ना मैं तेरी याद में रोना चाहता हूं,
जब तक जिंदगी है तुम्हारे साथ रहूंगा, बस यही बात तुम्हे कहना चाहता हूं।

1 comment: